16.8.17

20 Tips to Get Rid from Alcohol Addiction Treatment | नशे की लत से छुटकारा पाने के 20 उपाय

नशे की लत से छुटकारा पाने के 20 उपाय (Alcohol Addiction Treatment)

नाशा धीरे धीरे मानव शरीर को खोखला कर देता है। नशा शरीर के साथ संपूर्ण जीवन को तबाह कर देता है। नशे की लत (Alcohol Addiction Treatment) कोई बीमारी नहीं है जिससे छुटकारा न पाया जा सके। नशा छोड़ने के लिए व्यक्ति के अंदर आत्मविश्वास की भावना होनी चाहिए। ऐसा कोई भी कार्य नहीं है जिसे व्यक्ति नही कर सकता, फिर भी नशा लोगों की कमजोरी बन जाता है क्योंकि वह उससे दूर जाने का प्रयास नहीं करते।


Alcohol Addiction Treatment


नशे की लत (Alcohol Addiction Treatment)-: 


किसी भी वस्तु के नियमित सेवन से उस वस्तु की आदत हो जाती है, जिसके बिना आप से 1 दिन भी दूर नहीं रहा जाता, धीरे-धीरे वही आदत लत में बदल जाती है। नशे की लत( Alcohol Addiction Treatment) एक ऐसी प्रवृत्ति है जिसमें कोई व्यक्ति किसी नशीली दवा या ड्रग्स का नियमित सेवन करने का आदी हो जाता है और वह सामान्य दिनचर्या चलाएं रखने के लिए नशे पर निर्भर रहने लगता है। शुरूआत में मौज मस्ती के लिए नशा किया जाता है जो दोस्तों के दबाव में, पढ़ाई लिखाई के प्रेशर में या किसी तनाव से मुक्त होने के लिए नशा किया जाता है फिर धीरे-धीरे और कभी कभार किए जाने वाला नशा रोजाना की तल में तब्दील हो जाता है । नशे की लत (Alcohol Addiction Treatment) से धीरे-धीरे शरीर में और दिमाग में बदलाव आने लगते हैं जो कि नशा लेने के प्रति इच्छा को और अधिक जागृत कर देते हैं, व्यक्ति का नशा के सेवन की मात्रा पर भी कोई नियंत्रण नहीं रहता और व्यक्ति चाह कर भी नशा नहीं छोड़ पाता। नशे की लत व्यक्ति की इच्छा शक्ति को खत्म कर देती है और उसका अपने शरीर पर भी कोई नियंत्रण नहीं रहता।


नशे का मानव शरीर पर प्रभाव (Effects of intoxication on the human body)-: 


 नशे का प्रभाव सबसे अधिक व्यक्ति के मस्तिष्क पर पर पड़ता है। मानव शरीर से नशा के बाद एक डोपामीन नामक रसायन का स्राव होता है जो व्यक्ति के तंत्रिका तंत्र से जुड़ा होता है, नशे के दौरान व्यक्ति के दिमाग की संदेश प्रणाली से उत्पन्न प्रभाव की नकल करने लगता है। डोपामीन  नशे के दौरान व्यक्ति को आनंदित महसूस कराता है और मस्तिष्क उस भावना को फिर से प्राप्त करने के लिए उतावला होने लगता है। नियमित नशा करने से दिमाग की संवेदनशीलता कम होने लगती है तथा दिमाग की संज्ञानात्मक कार्यप्रणाली को नुकसान पहुंच सकता है साथ ही व्यक्ति की सोचने समझने की ताकत कम होने लगती है। अध्ययन से पता चला है कि नशे की लत से व्यक्ति के दिमाग पर नियंत्रण रखने वाले हिस्से प्रभावित होते हैं, जिससे अवसाद, मानसिक असंतुलन, निर्णय लेने की क्षमता तथा व्यवहार में बदलाव आदि देखने को मिलते हैं।

नशे की लत से छुटकारा पाने के उपाय (Remedies for getting rid of Alcohol Addiction):


 नशे की लत (Alcohol Addiction Treatment) का उपचार करने से पहले यह बात जानना आवश्यक है कि नशे की लत के क्या लक्षण होते हैं। नशे की आदत कब लत में बदल जाती है आपको पता भी नहीं चलता परंतु आपने पहले की अपेक्षा अधिक नशा करना प्रारंभ कर दिया है या पहले की तरह आप आपने मन पर नियंत्रण नहीं रख पाते तो समझ लीजिए आपको नशे की लत पड़ चुकी है। यहां नशे की लत को छुड़ाने के कुछ उपाय बताए जा रहे हैं जिन्हें अपनाकर नशे की लत को छोड़ा जा सकता है।

1-: मुनक्के में काली मिर्च, छोटी इलायची और दालचीनी मिलाकर मिक्सी में पीस लें तथा छोटी छोटी गोलियां बनाकर ले जब भी शराब या किसी भी तरह का नशा करने का मन करे तो इस पाउडर की एक गोली मुंह में डालकर चूसते रहेंं।

2-:  दिन में कम से कम 3 लीटर पानी पिए, पानी प्राकृतिक रूप से शरीर को डिटॉक्स कर नशे की लत (
Alcohol Addiction Treatment) से छुटकारा दिलाने में मदद करता है।

3-:  तीन से चार नींबू का रस निकालकर खाली पेट पीने से शरीर का फैट, विषाक्त पदार्थ तथा मिनरल अपशिष्ट को दूर किया जा सकता है।

4-:  कैमोमाइल चाय में शक्तिदायक और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो मादक पदार्थों से वापसी में व्यक्ति की मदद करते हैं। रोजाना 4 से 5 कैमोमाइल चाय पीने से नशा छोड़ने में मदद मिलती है।

5-:  एक लिटर पानी में 5-6 चम्मच मेथी के बीज उबालकर ठंडा करके पिलाएं इससे नशे की लत (
Alcohol Addiction Treatment) से छुटकारा मिलने के साथ मितली की समस्या में भी राहत मिलती है।

6-: 2 ग्राम फिटकरी का फूला, 3 ग्राम भस्म और 15 पत्ते सत्व सत्यानाशी का मिश्रण बनाकर पान के पत्तों में डालकर चबाएं।

7-: मुलहटी और शरपंखा सत्व का मिश्रण अच्छी तरह पान पर लगाकर नाश्ते के बाद 15 दिन तक सेवन करें।

8-:  बड़ी सौंफ को घी में भूनकर चबाने से सिगरेट से नफरत होने लगती है।

9-:  मुंह में गाजर, लौंग, इलाइची, च्विंगम जैसी चीजों को सिगरेट की तलब आने पर मुंह में रख लें।

10-:  किसी भी बीमारी, रोग या लत को छोड़ने में योग से अच्छी कोई दवा नहीं है। ध्यान और नियमित योगाभ्यास से मन शांत रहता है तथा मन पर नियंत्रण प्राप्त होता है ।

11-: इन सभी उपायों के अतिरिक्त अपने आप से नशा छोड़ने का वादा करें तथा आत्मविश्वास के साथ आगे बढ़ें।

12-: शराब या किसी भी नशे को बढ़ावा देने वाले समाज या मित्रों की संगति से दूर रहेंं।

13-:  शराब की बोतल या किसी भी मादक पदार्थों से संबंधित वस्तुओं को घर से बाहर फेंक दें।

14-:  नशा करने की तलब आने लगे तो भरपूर मात्रा में तरल पदार्थों का सेवन करें।

15-:  खुद को व्यस्त रखें तथा परिजनों व दोस्तों के साथ समय बिताएं, मस्तिष्क को कहीं न कहीं उलझाने की कोशिश करें।

16-: खजूर के दानों को पत्थर पर घिसकर पानी में मिलाकर रस तैयार कर लें दिन में दो तीन बार इस रस का सेवन करें नशे की लत (
Alcohol Addiction Treatment) छोड़ने में मदद मिलेगी।

17-: सेव का जूस, करेले का जूस, खजूर, शिमला मिर्च, अजवाइन, सौंफ आदि का सेवन खाने में करें।

18-: रोजाना सल्फर 200 नामक होम्योपैथी दवा की एक बूंद जीभ पर डाल लें और कुछ देर तक खाना ना खाएं।

19-: 250 ग्राम अजवायन को 4-5 लीटर पानी डालकर उबालें जब पानी 1 लीटर रह जाए तो छानकर बोतल में भर लेंं जब भी नशे की तलब आये 4-5 चम्मच मुंह में डाल लें, नशे की लत छूटने लगेगी।

20-: अदरक के छोटे छोटे टुकडे करके नींबू निचोड़ लें और काला नमक मिलाकर धूप में अच्छी तरह सुखा लें, नशे की तलब आने पर अदरक का एक टुकड़ा डाल कर चूसतज रहेंं। यह शराब के अलावा अन्य नशे की लत (
Alcohol Addiction Treatment) को छोड़ने का एक कारगर उपाय है।

0 comments:

Post a Comment