12.8.17

What is Depression, Reasons and Depression Treatment in Hindi | डिप्रेशन क्या है, जाने कारण और समाधान |

Depression Treatment in Hindi


बदलती जीवनशैली और खान पान के कारण व्यक्ति डिप्रेशन(DEPRESSION) का शिकार हो जाता है। डिप्रेशन(DEPRESSION) तनाव का ही बड़ा रूप है। परिस्थिति के जरा सा बदलने पर व्यक्ति डिप्रेशन(DEPRESSION) में चला जाता है। इस लेख (Depression Treatment in Hindi) के माध्यम से हम आज डिप्रेशन(DEPRESSION) के बारे में चर्चा करेंगे, हम जानेंगे कि डिप्रेशन(DEPRESSION) क्या है, यह क्यों होता है तथा डिप्रेशन(DEPRESSION) से कैसे बचा जा सकता है।

Depression Treatment in Hindi

डिप्रेशन क्या है? (What is DEPRESSION?) -: 


डिप्रेशन(DEPRESSION) को अवसाद भी कहा जाता है। अवसाद वह अवस्था होती है जिसमें व्यक्ति की जिंदगी जीने की चाह खत्म हो जाती है। अवसाद में अकेलापन घेरने लगता है। व्यक्ति को किसी से मिलना जुलना व बातें करना अच्छा नहीं लगता।अवसाद एक मनोदशा है जिसमें व्यक्ति लंबे समय तक उदास रहता है। अवसाद ग्रस्त व्यक्ति खुद में खोया सा और खामोश सा रहने लगता है। किसी भी कार्य के प्रति उसकी चाह खत्म हो जाती है। हम कह सकते हैं कि जब व्यक्ति के विचार, भावनाएं, व्यवहार, संबंध आदि कार्य प्रभावित होने लगे तब अवसाद की स्थिति उत्पन्न होती है। अधिक समय तक अवसाद में रहना व्यक्ति के लिए गंभीर भी हो सकता है। अवसाद की गंभीर अवस्था व्यक्ति को आत्महत्या करने पर भी मजबूर कर देती है।

अवसाद (DEPRESSION) की स्थिति वह लक्षण (Signs of DEPRESSION)


अवसाद की स्थिति तब उत्पन्न होती है जब जीवन के हर पहलू को व्यक्ति नकारात्मक दृष्टि से देखने लगता है, धीरे-धीरे यह स्थिति चरम पर पहुंच जाती है और व्यक्ति को अपना जीवन उद्देश्यहीन लगने लगता है। डिप्रेशन(DEPRESSION) कब आपको अपने आगोश में ले लेता है आपको पता भी नहीं चलता। अवसाद की स्थिति तब पैदा होती है जब मस्तिष्क को पूरा आराम नहीं मिलता खुद पर चारों तरफ से दबाव महसूस होने लगता है और तनाव चारों तरफ से आपको घेरने लगता है। लंबे समय तक तनाव की स्थिति ही डिप्रेशन(DEPRESSION) में बदल जाती है। जब व्यक्ति डिप्रेशन(DEPRESSION) में होता है तो एड्रीनलीन और कार्टिसोल नामक हार्मोन का स्तर बढ़ने लगता है। पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं में डिप्रेशन(DEPRESSION) अधिक देखने को मिलता है।

डिप्रेशन(DEPRESSION) के सामान्य लक्षण (9 Signs of DEPRESSION):


डिप्रेशन((Depression Treatment in Hindi) की स्थिति में प्रत्येक व्यक्ति में अलग-अलग लक्षण होते हैं परंतु सामान्य लक्षण है-

1-: किसी भी काम में मन न लगना।

2-: जिंदगी जीने की चाहत खत्म हो जाना।

3-: वजन बढ़ना या कम होना।

4-: आत्महत्या जैसे विचार मन में आना।

5-: लोगों की भीड़ में भी अकेलापन महसूस करना।

6-: मन का एकाग्र न हो पाना।

7-: खुद को अपराधी समझना।

8-: चिड़चिड़ापन व थकान।

9-: किसी भी काम के लिए खुद को दोषी ठहराना आदि।

डिप्रेशन(DEPRESSION) का सामान्य लक्षण लंबे समय तक उदासी व खालीपन की भावना का होना है। अगर आपके आस पास कोई व्यक्ति लंबे समय से उदास हो, किसी से बात करने में रुचि नहीं रखता हो, जीवन के प्रति कोई रुचि प्रकट ना करता हो तो समझ लीजिए वह =व्यक्ति डिप्रेशन(DEPRESSION) का शिकार है। अगर यह सभी लक्षण 2 सप्ताह तक रहे तो यह डिप्रेशन (Depression Treatment in Hindi) हो सकता है ऐसे में देर किए बिना तुरंत मनोरोग विशेषज्ञ से संपर्क करना चाहिए और यह भावनाएं 2 साल या उससे अधिक समय के लिए रहें तो उसे जीर्ण अवसाद (Dysthymia) के रुप में जाना जाता है।

डिप्रेशन(DEPRESSION) से बाहर निकलने के उपाय (How to Get Rid of DEPRESSION)

डिप्रेशन(DEPRESSION) (अवसाद) से घबराएं नहीं यह कोई रोग नहीं है, यह एक मनोदशा है जिसमें कार्य का अतिरिक्त भार या किसी अपने के बिछड़ने के गम से अवसाद (डिप्रेशन(DEPRESSION)) की स्थिति पैदा हो जाती है। जाने-माने अभिनेता भी अवसाद की चपेट में आए हैं, जिसमें करण जोहर, दीपिका पादुकोण, अनुष्का शर्मा आदि फेमस हस्तियां शामिल हैंं। दीपिका पादुकोण ने तो अपने डिप्रेशन(DEPRESSION) में जाने और उसे बाहर निकलने की स्थिति को एक अवॉर्ड शो के जरिए पूरी दुनिया के सामने रखा था। लंबे समय तक तनाव में रहने से ही डिप्रेशन(DEPRESSION) की स्थिति पैदा होती है। डिप्रेशन(DEPRESSION) से बाहर निकलने के लिए बहुत से तरीके ((Depression Treatment in Hindi)) अपनाए जा सकते हैं। सर्वप्रथम तो इतना याद रखें कि जीवन अनमोल है इसे तनाव में रहकर जायांं ना करें। प्रत्येक व्यक्ति के जीवन में अच्छे और बुरे अनुभव होते हैं जिस प्रकार अच्छे दिनों को प्रसन्नतापूर्वक काट लेते हैं उसी प्रकार बुरे वक्त को खुद के ऊपर हावी ना होने दें। संघर्ष ही जीवन है प्रत्येक समस्या का समाधान होता है उसे खोजने की कोशिश करें।

अवसाद(DEPRESSION) से बाहर निकलने के उपाय (How to Control DEPRESSION):

व्यायाम(Do Exercises)-:

व्यायाम तनाव से मुक्ति का सबसे अच्छा साधन है। व्यायाम से न केवल तन और मन सुदृढ़
होता है बल्कि मानसिक शांति भी प्राप्त होती है।

संगीत(Listen Music)-: 

कहा जाता है कि संगीत सभी रोगों की दवा है जब भी मन उदास हो संगीत सुनें मन शांत रहेगा
और प्रसन्न भी।

दोस्तों से शेयर करें(Share with Close Friends)-: 

अगर कोई बात परेशान कर रही है तो उसे दोस्तों के साथ साझा करें कई बार अपनी भावनाओं को प्रकट ना करने के कारण व्यक्ति घुटता रहता है और अवसाद (Depression Treatment in Hindi) में चला जाता है।

उद्देश्य(Make Aim)-: 

उद्देश्य बनाएं तथा उसे प्राप्त करने के लिए प्रयासरत रहे, याद रखें कि कर्म ही जीवन है । जैसा
कर्म करोगे फल वैसा ही प्राप्त होगा।

मनोरंजन(Entertainment)-: 

मनुष्य का शरीर भी मशीन की तरह होता है लगातार काम करने की वजह से थकान और
उदासीनता की स्थिति पैदा होने लगती है, खुद को रिफ्रेश करने के लिए मनोरंजन करना भी आवश्यक
है। अपने लिए समय निकाल कर मनपसंद स्थानों पर घूमने जाएं, दोस्तों से मिलकर या मूवी आदि से
तनाव को दूर करने का प्रयास करें। (Depression Treatment in Hindi)

0 comments:

Post a Comment