8.8.17

5 Common Skin Diseases and Homemade Solution | त्वचा संबंधी रोग और उनके उपचार

त्वचा संबंधी रोग और उनके उपचार ( Skin Diseases and Homemade Treatment)


मानसून शुरू होते ही त्वचा संबंधी अनेक समस्या होने लगते हैं, त्वचा शरीर का सबसे जरूरी हिस्सा होता है जो बाहरी वातावरण के संपर्क में रहता है, प्रत्येक व्यक्ति की त्वचा अलग-अलग तरह की होती है। गर्मी और उमस त्वचा की ऊपरी सतह के लिए नुकसानदायक होती है। वातावरण में समय-समय पर बदलाव होते रहते हैं जिसके साथ ही त्वचा का ध्यान रखना आवश्यक है। त्वचा संबंधी रोग (Skin Diseases) होने के अनेक कारण हो सकते हैं जैसे- अनियमित व अशुद्ध आहार, शरीर को साफ सफाई न रखना, बदलते मौसम के साथ त्वचा की देखभाल न करना आदि।


Skin Diseases


इसलिए लेख माध्यम से हम आपको बताएंगे त्वचा संबंधी रोग (Skin Diseases) कौन-कौन से होते हैं तथा त्वचा संबंधी रोग (Skin Diseases) होने के कारण और उपचार।

 त्वचा संबंधी रोग, कारण व उपचार (Skin Related Diseases, Causes and Treatment)


1. मुहांसे (Acne)-:

70 प्रतिशत युवा मुहांसों की समस्या से ग्रसित हैंं, मुहांसे युक्त चेहरा देखने में तो भद्दा लगता ही है साथ ही व्यक्ति के आत्मविश्वास को भी कम कर देता है, जिसकी वजह से घर से बाहर निकलने में भी हीन भावना महसूस होती है। धूल, मिट्टी त्वचा के रोम छिद्रों को बंद कर देते हैं, जिससे त्वचा के अंदर गर्मी बढ़ने से वैक्टीरिया तेजी से पनपने लगते हैं।




कारण (Causes)-:

मुहांसे त्वचा सम्बन्धी रोग (Skin Diseases) नहीं है यह हारमोंस में बदलाव व अधिक वसा युक्त या अशुद्ध भोजन, त्वचा की उचित देखभाल न करने के कारण होता है। पाचन तंत्र का संतुलित ना होना, कब्ज रहना आदि भी मुहांसे होने के मुख्य कारण हैं।

उपचार (Solution)-:  

त्वचा को मुहांसों से मुक्त करने के लिए साफ-सफाई पर अधिक ध्यान दें। दिन में कम से कम तीन चार बार चेहरा साफ करें। सोने से पहले अच्छे क्लिंजर से त्वचा की सफाई करें। कम वसायुक्त खाना खाएं। जहां तक संभव हो सके घर पर बना शुद्ध खाना खायें। त्वचा को ठंडक प्रदान करने के लिए हफ्ते में एक बार फेस पैक का इस्तेमाल अवश्य करें।

2. दाद (Ringworm)-:


दाद भी त्वचा संबंधी रोग (Skin Diseases) है, जो शरीर की सही सफाई न करने के कारण होता है। दादा ऐसा रोग है जो संक्रमण के द्वारा फैलता है यानी एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को होता है। शरीर का कोई एक अंग जब पानी के अधिक संपर्क में रहता है तो पानी के जरिए बैक्टीरिया और नमी के कारण यह रोग होता है। दाद शरीर के किसी भी भाग पर हो सकता है, इसमें शरीर में लाल गोले जैसा निशान चारों ओर बन जाता है।


Skin Diseases


कारण (Causes)-:

त्वचा संबंधी रोग (Skin Diseases) होने का मुख्य कारण ठीक से साफ सफाई न करना ही होता है, अगर त्वचा साफ सुथरी नहीं है तो दूसरे व्यक्ति के संपर्क में आने से यह रोग आसानी से लग जाता है। स्किन इन्फेक्शन, त्वचा का रूखा होना, मौसम में बदलाव, किसी ब्यूटी प्रोडक्ट का साइड इफेक्ट, आदि दाद होने के मुख्य कारण हैं।

उपचार (Solution)-:  

दाद के लिए घरेलू दवाइयां ज्यादा असरदार होती है। दाद के कारण अधिक खुजली होने पर 1 हफ्ते तक टमाटर का रस सुबह पीयें। नीम की पत्तियों को पानी में उबाल लें तथा इस पानी से स्नान करें।
दाद की समस्या होने पर शैंपू या साबुन से स्नान नहीं करना चाहिए।

3. एग्जिमा (Agjima)-:


एग्जिमा त्वचा सम्बन्धी सामान्य रोग (Skin Diseases) है। एग्जिमा एक प्रकार की खुजली है। एग्जिमा में संक्रमित त्वचा लाल और शुष्क हो जाती है, तथा वहां पर धब्बे हो जाते हैं। एक्जिमा को उकवत भी कहा जाता है। इस रोग में त्वचा पर छोटे छोटे दाने हो जाते हैं। एग्जिमा एक कष्टदायक रोग है, इसीलिए शीघ्र ही इसका उपचार करना चाहिए।


Skin Diseases


कारण (Causes)-:

शरीर पर एलर्जी, त्वचा संबंधी रोग (Skin Diseases) या अन्य समस्याएं। रक्त विकार या रक्त की अशुद्धि।
एक्जिमा संक्रमित रोग नहीं है यह किसी अन्य व्यक्ति के संपर्क में आने से नहीं होता।

उपचार (Solution)-:  

खून साफ करने वाली दवाइयों का सेवन करें तथा नहाते समय पानी में थोड़ा डिटोल डाल लें। भोजन में तीखी व खट्टी चीजों का इस्तेमाल ना करें। अजवाइन को पानी में पीसकर लेप लगाने से एक्जिमा कुछ दिनों में ही ठीक हो जाता है।

4. सफेद दाग (Vitiligo / Leucoderma):


सफेद दाग भी एक प्रकार का त्वचा संबंधी रोग (Skin Diseases) है, इसमें शरीर के अलग-अलग हिस्सों पर सफेद दाग हो जाते हैं, इसे ल्यूकोडर्मा भी कहा जाता है। सफेद दाग का कोढ़ से कोई संबंध नहीं है।


Skin Diseases


कारण (Causes)-:

सफेद दाग ऑटोइम्यून डिसऑर्डर है जिसमें शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता शरीर को ही उल्टा नुकसान पहुंचाने लगती है। खराब इम्युनिटी की वजह से शरीर में त्वचा का रंग बनाने वाली कोशिकाएं मरने लगती है जिससे शरीर पर जगह-जगह उजले धब्बे बन जाते हैं।

उपचार (Solution)-:  

सफेद दाग का ठीक होना इस बात पर निर्भर करता है कि इससे प्रभावित व्यक्ति कितने समय के बाद इलाज कराने गया है। सफेद दाग होने पर अच्छे त्वचा रोग विशेषज्ञ से ही संपर्क करें, जो दाग होने के कारण के बारे में पता कर सकें।

5. घमोरियां (Prickly Heat Rashes)-:


घमोरियां मुख्य रूप से बरसात या गर्मी के दिनों में होने वाला त्वचा संबंधी रोग है, इसमें व्यक्ति के शरीर पर छोटे छोटे लाल या सफेद पानी भरे दाने निकल आते हैं जिसमें खुजली होती है तथा धूप के संपर्क में आने पर जलन भी होने लगती है।


Skin Diseases


कारण (Causes)-:

बरसात के मौसम में उमस भरी गर्मी के कारण पसीना बार बार आता है, जो सूख नहीं पाता। लगातार पसीना धूप और धूल मिट्टी के संपर्क में रहने से घमोरियां होने लगती हैं। घमोरियां कोई खतरनाक त्वचा संबंधी रोग (Skin Diseases) नहीं है।

उपचार (Solution)-:  

शरीर को साफ सुथरा रखें, ज्यादा घमोरियां होने पर शरीर पर बर्फ की मालिश करने से ठंडक मिलती है। गर्मियों में अधिक गरम मसाले युक्त भोजन व लहसुन प्याज का सेवन नहीं करना चाहिए। नारियल के तेल में कपूर मिलाकर घमौरियों वाले स्थान पर मालिश करने से  घमौरियां दूर हो जाती हैं।

0 comments:

Post a Comment