-->

21.5.18

हल्दी (Benefits of Turmericका इस्तेमाल किचन में पीसकर मसाले के रुप में किया जाता है । लेकिन  रासयनिक गुणो के कारण हल्दी का इस्तेमाल कई ब्यूटी प्रोड्क्टस और दवाइयों में औषधि के रुप में भी किया जाता है । हल्दी (Haldi Ke Fayde or Nuksan) में विटामिन ए , प्रोटीन , कार्बोहाइड्रेट और कई पोषक खनिज तत्व मौजूद होते है । जो शरीर में कई खतरनाक बिमारियों जैसे लीवर की समस्या , गठिया , अल्जाइमर , मोटापा आदि को ठीक करने में मदद करता है ।


7 Amazing Haldi Ke Fayde or Nuksan

10 Lahsun Ke Fayde Aur Nuksan in Hindi

हल्दी के फायदे (Haldi Ke Fayde / Benefits of Turmeric ):

  1. चोट -घाव :
    कई बार हाथ पैर में गहरी चोट और सूजन आ जाती है ।जिसे ठीक करने के लिए लोग महीनों तक डॉक्टरों के क्लीनिक के चक्कर काटते है ।लेकिन चोट घाव पर हल्दी का लेप लगाने या हल्दी वाले पानी का सकें करने से सूजन बहुत तेजी से कम होने लगती है । इसकी सलाह कई ड़ॉक्टर्स भी अपने इलाज के दौरान देते है ।और ये घरेलु  उपाय आप अपने डॉक्टर से चल रहे इलाज के साथ भी कर सकते है (Haldi Ke Fayde or Nuksan)।
     
  2. त्वचा संबंधी रोग :

    फोड़ें , मुहांसे और खाज - खुजली जैसी त्वचा संबंधी समस्याएं होने पर हल्दी का उपयोग तुंरत असर करता है । यही वजह है कि कई मुहांसे ठीक करने वाली क्रीमस और फेश वॉश में भी हल्दी का इस्तेमाल किया जाता है। क्योंकि हल्दी में एंटी बैक्टीरियल गुण मौजूद होते है ।  आप हल्दी को पीसकर रोजाना रात को सोने से पहले मुहांसे की जगह पर लगाइए ।आप चाहे तो हल्दी (Haldi Ke Fayde or Nuksan) के साथ शहद और दूध मिलाकर लेप तैयार कर भी मुहांसो पर लगा सकती है ।
  3. खूबसूरत और आकर्षक त्वचा :

    खूबसूरत और आकर्षक त्वचा का होना हर किसी की इच्छा होती है । जिसके लिए कई लोग महंगे महंगे ब्यूटी प्रोडक्टस पर पैसा पानी की तरह बहाते है । लेकिन केमिकल प्रोडक्ट रंगत निखारने की बजाय उसे और खराब कर देते है । लेकिन किचन में मिलने वाली हल्दी से ही चेहरे और शरीर के दूसरे अंगों की रंगत को निखारा जा सकता है । क्योंकि हल्दी में मौजूद एंटी फंगल गुण त्वचा संबंधी रोगों को होने से रोकते है और नए सेल्स को उभारते है ।
  4. दांत की सफाई :

    पीले हुए दांत और कमजोर मसूड़ो का रामबाण घरेलु उपाय हल्दी है हल्दी (Haldi Ke Fayde or Nuksan) में मौजूद औषधि गुण दांत की सफाई कर मसूड़ों को मजबूत बनाते है। और मुहं में होने वाले इंफेक्शन को भी रोकते है । हल्दी और अजवाइन का पेस्ट दांतो में लगाने से हिलते दांतों की समस्या भी खत्म हो जाती है ।
  5. वात -पित्त :

    हल्दी के एंटी बैक्टीरियल गुण शरीर में वात पित्त कफ जैसी बिमारियों को ठीक करने में मदद करते है । साथ ही हल्दी की तासीर गर्म होने के कारण ये पेट में छिपे कीटाणुओं को नष्ट करता है ।
  6. आर्थराइटिस :

    जिन लोगों को आर्थराइटिस की समस्या है या जिनके शरीर के किसी भी अंग में दर्द की समस्या है उन्हें हल्दी वाला दूध रोजाना पीना चाहिए । साथ ही हल्दी के लेप को दर्द वाली जगह पर लगाना चाहिए। इसे तुंरत आराम मिलना शुरु हो जाएगा ।
  7. कैंसर रोकने में सहायक:

    हल्दी में अल्कलायड कर्कुमिन नाम का एक तत्व होता है । जो कैंसर से बचाव में सहायक होता है । जिस वजह से हल्दी (Haldi Ke Fayde or Nuksan) को कैंसर जैसी जानलेवा बिमारी से रोकथाम में सहायक माना जाता है ।

सावधानियां (Haldi Ke Nuksan / Disadvantages of Turmeric):

  1. लंबे वक्त तक हल्दी के सेवन से आपको दस्त , मिताली और एसीडिटी की समस्या हो सकती है 
  2. गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को हल्दी का सेवन नहीं कराना चाहिए । क्योंकि हल्दी (Turmeric) गर्भ परवर्ती  का होता है।
  3. किमोथेरपी के दौरान हल्दी नहीं खानी चाहिए । ये हानिकारक हो सकता है । 
  4. पित्त के रोगियों को भी हल्दी (Haldi Ke Fayde or Nuksan) खाने से बचना चाहिए । 

Popular Posts