-->

1.8.18

दालचीनी से होने वाले इन फायदें और नुकसानों के बारे में नहीं जानते होंगे आप

भारत को पूरे विश्व में मसालों के देश के नाम से भी जाना जाता है। ऐसा इसलिए क्योंकि इस देश में हज़ारों वर्षों से सैकड़ो तरह के मसाले बनाए जाते रहे है, जो भोजन को स्वादिष्ट और स्वास्थ्यकारी बनाने में मदद करते है। आज हम Cinnamon in Hindi की बात करेंगे जिसका इस्तेमाल सदियों हमारे देश में किया जा रहा है।

Benefits of Using Cinnamon in Hindi

Cinnamon in Hindi को दालचीनी भी कहा जाता है। यह एक खास तरह के पेड़ की छाल होती है। दालचीनी को प्राचीन समय से एक अपच और दवाई के तौर पर इस्तेमाल किया जा रहा है। यह हमारे पाचन तंत्र को मजबूत करता है। इसके अलावा भी दालचीनी से कई प्रकार के लाभ होते है जिनके बारे में अधिकतर लोग अनजान है। आज हम आपको Cinnamon in Hindi  से होने वाले लाभ के बारे में बता रहे है:

10 Amazing Benefits of Basil in Hindi | तुलसी के फायदे

दालचीनी से होने वाले फायदें (Benefits of Using Cinnamon in Hindi):-

1) पेट के रोगों में असरदार-

 दालचीनी पेट के सभी रोगों में काफी असरदार साबित होती है। सीने में जलन, कब्ज, पेटदर्द जैसी सभी समस्याएं दालचीनी के नियमित सेवन से दूर रहती है। इसके अलावा यह आपके पेट की अतिरिक्त चर्बी को कम करने में भी मदद करता है।

Shahad Ke Fayde Aur Nuksan

2) गंभीर बीमारियों से लड़ने में सहायक- 

दालचीनी कई गंभीर बीमारियों से लड़ने की शारीरिक शक्तियों को बढ़ाता है। इससे रक्त चाप और कॉलेस्ट्रोल नियंत्रित रहता है। साथ ही इसमें पाए जाने वाले पौषक तत्व कैंसर और दिल के रोगियों के लिए भी काफी लाभदायक होते है।

3) चेहरे से मुहांसे करें दूर- 

अगर आपके चहरे पर मुहांसे निकाल आए है तो इसमें भी दालचीनी से आपको काफी लाभ हो सकता है। दालचीनी को पीसकर उसे शहद में मिलाकर चेहरे पर लगाने से बहुत जल्द आपके मुहांसे दूर हो जाएंगे।

4) बालों का झड़ना रोकें- 

अगर आपको बाल झड़ने की समस्या है तो Cinnamon in Hindi आपके लिए किसी रामबाण से कम नहीं है। दालचीनी शरीर में रक्त के प्रवाह को बढ़ाता है जिससे आपके बालों की जड़े मजबूत होती है। इसके अलावा दालचीनी, शहद और जैतून के तेल का पेस्ट बालों में लगाने से चमक आती है।

10 Lahsun Ke Fayde Aur Nuksan in Hindi 

5) दिमागी शक्ति को बढ़ाएं-

दालचीनी छात्रों के लिए भी काफी फायदेमंद होता है। इसकी सुगंध सीधे दिमाग पर असर करती है जिससे आप पढ़ाई और अन्य काम ज्यादा मन लगाकर कर सकते है। इससे आपकी स्मरण शक्ति में भी इजाफा होता है।

6) सर्दी-झुकाम से तुरंत आराम- 

बदलते मौसम में अक्सर लोग सर्दी-झुकाम जैसी समस्याओं से काफी परेशान हो जाते है। ऐसे में एक कप पानी उबालकर उसमें चुटकीभर दालचीनी और थोड़ी सी काली मिर्च से आपको तुरंत आराम मिलता है।

7) गर्भवती महिलाओं के लिए है लाभकारी- 

गर्भवती महिलाओं को अक्सर Cinnamon in Hindi खाने की सलाह दी जाती है। इससे उन्हें पेटदर्द जैसी समस्याओं से राहत मिलती है। बच्चा होने के बाद दालचीनी के नियमित सेवन से मां के स्तन में दूध बढ़ता है।

प्रेंग्नेसीं के दौरान रखी जाने वाली सावधानियां

8) अनिद्रा में भी फायदेमंद- 

अगर आपको नींद ना आने जैसी समस्या है तो दालचीनी के पाउडर को दूध के साथ लेने से यह समस्या दूर हो जाएगी। और सुबह उठने के बाद आप ज्यादा स्वस्थ्य और ताज़गी भरा महसूस करेंगे।

दालचीनी लेने का सही तरीका (Best Way to Use Cinnamon):-

  • दालचीनी को आप कई प्रकार से इस्तेमाल कर सकते है। Cinnamon in Hindi  को पीसकर गरममसालें में मिलाकर रोज़ाना खाने में इस्तेमाल करें। इसके अलावा चावल और पुलाव जैसे व्यंजन में इसका साबुत इस्तेमाल भी किया जा सकता है।
  • दालचीनी को शहद में मिलाकर लेने से इसका असर दोगुना हो जाता है। इसके अलावा गर्म पानी, दूध या चाय में मिलाकर भी आप दालचीनी का सेवन कर सकते है।
  • आज बाज़ार में दालचीनी कई रुप में उपलब्ध है। आप छाल और पाउडर के अलावा इसका तेल भी इस्तेमाल कर सकते है। Cinnamon in Hindi का तेल एक औषधि के रुप में बेहद गुणकारी माना गया है। यह तेल मधुमेह और मासिक धर्म जैसी समस्याओं को दूर करने में मदद करता है। 

दालचीनी से होने वाले साइड इफेक्ट्स और नुकसान (Side Effects of Cinnamon in Hindi):-

कोई भी चीज अधिक मात्रा में नुकसानदेह साबित हो सकती है। Cinnamon in Hindi के ज्यादा इस्तेमाल से भी आपको कई प्रकार की समस्याएं उतपन्न हो सकती है। किसी भी वस्तु के इस्तेमाल से पहले उसके लाभ के साथ-साथ साइड इफेक्ट्स के बारे में जानना भी बेहद ही आवश्यक है। आइये दालचीनी से होने वाले नुकसान पर भी एक नज़र डाल लेते है:

1) गर्मियों में कम करें इस्तेमाल- 

दालचीनी की तासीर गर्म होती है। यह आपके रक्तचाप को तेज करता है और शरीर में गर्मी पहुंचाता है। गर्मियों में गर्म तासीर वाली वस्तुओं के सेवन से बचने की सलाह दी जाती है। इसीलिए गर्मियों में हफ्तें में एक या दो से ज्यादा बार इसका सेवन नहीं करना चाहिए।

2) समय से पहले प्रसव-

ऊपर हमने आपको बताया कि दालचीनी का इस्तमाल गर्भवती महिलाएं पेटदर्द जैसी समस्याओं से छुटकारा पाने में करती है। लेकिन इसके जरुरत से अधिक इस्तेमाल से समय से पहले प्रसव होने की संभावना बढ़ जाती है, जिस कारण बच्चा कमजोर हो सकता है। 

3) लीवर फेलियर का कारण- 

दालचीनी की कई प्रकार की किस्में होती है, जिनमें से अधिकतर किस्मों में कुमरिन पाया जाता है। कुमरिन का अधिक सेवन आपके लीवर को नुकसान पहुंचाता है और यहां तक कि यह लीवर फेलियर का कारण भी बन सकता है। इससे बचने के लिए आप सीलोन दालचीनी का सेवन करें क्योंकि इसमें कुमरिन की मात्रा बेहद ही कम होती है। आम लोगों को Cinnamon in Hindi की किस्मों में अंतर करने में थोड़ी परेशानी हो सकती है। ऐसे में किसी जानकार की सलाह लेना उचित रहेगा। 

4) खुन को करता है पतला- 

कुछ प्रकार की दालचीनी आपके खून को पतला करती है। खुन का पतला होना एक बड़ी समस्या है। हालांकि कुछ लोगों को चिकित्सक इसका इस्तेमाल करने की सलाह भी देते है। लेकिन दालचीनी के अधिक इस्तेमाल से आपका खून पतला होने के साथ-साथ पानी बनना भी शुरु हो सकता है। 

5) एलर्जी और स्किन रोग होने के कारण- 

दालचीनी के अत्यधिक सेवन से आपको एलर्जी और स्किन होने का खतरा भी बढ़ जाता है। इसके सेवन के दौरान अगर आपको त्वचा में जलन की शिकायत होती है तो इसे लेना तुरंत बंद कर दें।

दोस्तों आशा करते है कि यह जानकारी आपको पसंद आई होगी और यकीनन इसमें से अधिकतर बातें आपने पहली बार सुनी होगी। Cinnamon in Hindi से जुड़ी यह जानकारी आप अपने मित्रों एवं रिश्तेदारों के साथ शेयर कर उनकी सेहत का ख्याल भी रख सकते है। 

Popular Posts