-->

13.8.18

गर्भनिरोधक का सबसे सुरक्षित तरीका है कॉपर टी (Copper T in Hindi & Price), जानिएं कैसे करता है ये काम

भारत दुनिया का दूसरा सबसे ज्यादा आबादी वाला देश है और अगले कुछ वर्षों में यह देश चीन को को पछाड़कर इस क्रम में पहले स्थान पर आ जाएगा। बढ़ती जनसंख्या की इस समस्या पर काबू पाने के लिए आज बाज़ार में कई तरह के गर्भनिरोधक उपरकरण मौजूद है। कंडोम और गर्भनिरोधक गोलियों के बारे में तो लगभग सभी जानते है।



गर्भनिरोधक गोलियों के अधिक इस्तेमाल से शरीर में कई तरह के साइड इफेक्ट्स हो जाते है, तो वहीं कंडोम का इस्तेमाल करने पर लोग आनन्द में कमी की शिकायत करते है। इन सभी परेशानियों से बचने के लिए कॉपर-टी सबसे सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। Copper T in Hindi के बारे में आज भी अधिकतर लोग काफी अनजान है।
क्या होता है कॉपर टी

पुरुषों के लिए असरदार हेल्थ टिप्स

कॉपर टी एक आयूसीडी उपकरण होता है, जिसका इस्तेमाल गर्भ रोकने के लिए किया जाता है। यह कॉपर और प्लास्टिक का बना होता है और दिखने में कुछ-कुछ T के आकार जैसा होता है, इसलिए इसे आसान शब्दों में कॉपर टी कहा जाता है।  Copper T in Hindi का इस्तेमाल अधिकतर वह दंपत्ति या महिलाएं करती है जो एक बार मां बनने का सुख ले चुकी है और आने वाले कुछ सालों तक दोबारा मां नहीं बनना चाहती। 

कॉपर टी कैसे करता है काम(How to use Copper T)

कॉपर टी एक पतले पाइप की मदद से महिलाओं के गर्भाशय में लगाया जाता है। गर्भाशय में लगाने के बाद यह वहां पर अच्छी तरह फिट हो जाता है। Copper T in Hindi कॉपर का बना होने के कारण इसमें से एक अलग प्रकार का हॉर्मोन निकलता है, जो पुरुष के शुक्राणुओं को अंडाशय से मिलने से पहले ही उसे नष्ट कर देता है। शुक्राणु और अंडाशय का मिलना ना होने के कारण महिला गर्भ धारण नहीं कर पाती।

कितना खर्च आता है इसे लगाने में(Copper T Prices)

भारत देश में कॉपर टी का चलन आज भी बहुत कम है, ऐसा इसलिए क्योंकि लोगों को इसके बारे में अधिक जानकारी नहीं है और इसके फायदे से भी अनजान है। गर्भ रोकने के लिए Copper T in Hindi सबसे सस्ता उपकरण माना जाता है। इसकी कीमत 300-500 रुपए के बीच होती है, जो इसकी गुणवत्ता पर निर्भर करती है। एक बार यह लगाने के बाद आप 5- 10 साल तक के लिए अपना गर्भ रोक सकती है।

How to Seduce Women on Bed in Hindi

कॉपर टी के प्रति उठने वाले कुछ आम प्रश्न

अक्सर कॉपर टी के इस्तेमाल से पहले महिलाओं के मन में कई प्रकार के सवाल उठते है, जो बेहद ही स्वाभाविक है। आमतौर पर उठने वाले कुछ सवाल और उनके जवाब हम आपको बता रहे है:

त्वचा संबंधी रोग और उनके उपचार

गर्भ रोकने में यह कितना मददगार है?

Copper T in Hindi गर्भ रोकने में पूरी तरह से उपयोगी साबित होता है। इसकी उपयोगिता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि अब तक 99 प्रतिशत केस में इसे सुरक्षित और खरा पाया गया है।

कोई साइडइफेक्ट्स तो नहीं? (Side Effects of Copper T)

कॉपर टी को लगाने के कोई साइड इफेक्ट्स नहीं होते। हां अगर आपको कॉपर से एलर्जी है तो गर्भनिरोधक के अन्य तरीके इस्तेमाल करना आपके लिए बेहतर रहेगा।

कैसे निकाला और लगाया जाएं? (How to Insert and Remove Copper T)

कॉपर टी को निकालने का तरीका बेहद ही सरल होता है। यह महिला की योनी में डालकर गर्भाशय में फिट किया जाता है, लेकिन इसे आप कभी भी घर पर खुद ना लगाएं। किसी अनुभवी डॉक्टर से ही इसे लगवाएं। इसे निकालने का तरीका भी बेहद आसान होता है। Copper T in Hindi के नीचे एक धागा बंधा होता है। आपका डॉक्टर एक क्लिप की मदद से इस धागे को पकड़कर कॉपर टी को बाहर निकाल देता है, जिसके बाद आप फिर से गर्भधारण कर सकती है।

amazon copper t

क्या इससे सेक्स के दौरान कोई परेशानी होती है?

कॉपर टी लगाने के बाद आप पहले की तरह ही सेक्स कर सकती है और इससे आपके आनन्द पर भी कोई असर नहीं पड़ता।

कॉपर टी के फायदे (Benefits of Copper T)

अन्य गर्भनिरोधक उपरकरण और तकनीक के मुकाबले, कॉपर टी इस्तेमाल करने के कई प्रकार के फायदे नज़र आते है। आइये Copper T in Hindi से होने वाले लाभ के बारे में भी जान लेते है:

गर्भवती महिला के लिए कैसा होना चाहिए आहार

नहीं करता कोई रिएक्शन- 

गर्भनिरोधक गोलियां शरीर में कई प्रकार के रिएक्शन करती है, जो महिलाओं के सेहत के लिए बेहद ही खतरनाक है। इन गोलियों के ज्यादा इस्तेमाल से हार्ट अटैक की संभावना कई गुणा बढ़ जाती है और यह स्त्री के मासिक धर्म को भी प्रभावित करती है। वहीं दूसरी ओर कॉपर टी शरीर में किसी तरह का कोई रिएक्शन नहीं करता।

दोबारा बन सकती है मां- 

अन्य गर्भनिरोधरक उपरकरण एक महिला की मां बनने की क्षमता पर बेहद असर करता है। वहीं कॉपर टी के इस्तेमाल से आपकी मां बनने की क्षमता पर कोई असर नहीं पड़ता। अगर आप दोबारा मां बनना चाहती है तो कॉपर टी को अपने गर्भाशय से निकालकर पहले की तरह ही गर्भ धारण कर सकती है।

लंबे समय तक के लिए है कारगार- 

एक बार कॉपर टी लगाने के बाद आप 5 से 10 साल तक के लिए बेफिक्र हो जाते है। समय पूरा होने के बाद आप नये कॉपर टी को पुराने कॉपर टी से बदलकर आराम से सहवास का आनन्द ले सकते है।

कॉपर टी के नुकसान (Disadvantages of Copper T)

कॉपर टी लगाने के फायदें के साथ-साथ इसके कुछ नुकसान भी देखे गएं है। आइये Copper T in Hindi से होने वाली कुछ हानियों पर भी एक नज़र डाल लेते है:

योनी से खून आना- 

कॉपर टी लगाने वाली महिलाओं को योनी से खून आने की समस्या आती है। अक्सर यह समस्या कॉपर टी लगाने के शुरुआती कुछ दिनों में सामने आती है। वहीं कुछ महिलाओं में मासिक धर्म के दौरान ऐंठन होने की परेशानी भी देखी गई है।

कॉपर टी का बाहर आना- 

कई बार कॉपर- टी महिला के गर्भाशय से स्वतः ही बाहर आने लगता है। ऐसा अक्सर कॉपर टी के ठीक से फिट ना होने के कारण या बच्चे के जन्म के तुरंत बाद कॉपर टी लगवाने वाली महिलाओं के साथ होता है।

संक्रमण होना- 

कुछ महिलाएं को Copper T in Hindi लगाने के बाद रैशज़ और जलन जैसी समस्याओं की शिकायत होती है। इसके अलावा कई बार इसे लगाने के दौरान गर्भाशय में खरोंच भी आ जाती है। ऐसी कोई भी समस्या होने पर आप तुरंत ही अपने डॉक्टर से सलाह लें।

प्रिय पाठकों, उम्मीद करते है कि अब आप कॉपर टी से पूरी तरह से परिचित हो गए होंगे। एक सर्वे के अनुसार Copper T in Hindi को सबसे सुरक्षित गर्भनिरोधक माना गया है। अब आप भी देश की बढ़ती आबादी को रोकने के लिए इस तरह के उपरकरण इस्तेमाल कर अपना योगदान दे सकती है। 

Popular Posts